Banko Ka Vilay List in India 2021 | बैंकों के विलय की सूची

Banko Ka Vilay बैंकों के विलय का सबसे बड़ा कारण है भारतीय बैंकों को विश्वस्तरीय लेवल पर बढ़ावा देना, 2 साल पहले 30 अगस्त 2019 में भारतीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने 10 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को चार संस्थाओं में विलय करने की घोषणा की थी जिसके बाद भारत में 27 से सिर्फ 12 सार्वजनिक क्षेत्र बैंक बन गए हैं|

इस विलय को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 4 मार्च 2020 को मंजूरी दी थी। विलय 1 अप्रैल, 2020 से प्रभावी होगा। जिसके बाद पब्लिक सेक्टर बैंकों की संख्या 27 से घटकर सिर्फ 12 रह गई है|

यहां जाने वह कौन सी बैंक है:  12 पब्लिक सेक्टर बैंक 

Banko Ka Vilay के बारे में जाने से पहले हमें यह जानना चाहिए कि विलय होता क्या है?

विलय का अर्थ

जब दो या दो से अधिक कंपनी एक साथ मिलकर काम करने का निर्णय करती हैं तब उसको Banko Ka Vilay कहा जाता है| यह सारी कंपनी उस एक नई कंपनी का नया नाम भी रख सकती हैं या किसी एक पुराने नाम पर ही अपना व्यवसाय कर सकती हैं|

 

बैंकों के विलय की सूची 2021

इस बैंक में हुआ विलय बैंक- जिनका विलय हुआ (Banko Ka Vilay)
पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UBI)
केनरा बैंक (Canara Bank) सिंडिकेट बैंक (Syndicate Bank)
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India) आंध्रा बैंक (Andhra Bank)
कॉर्पोरेशन बैंक (Corporation Bank)
इलाहाबाद बैंक (Allahabad Bank) इंडियन बैंक (Indian Bank)
बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) देना बैंक (Dena Bank)
विजया बैंक (Vijaya Bank)

** बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) के साथ देना बैंक (Dena Bank) और विजया बैंक (Vijaya Bank) का विलय 1 April 2019 को हो गया था

किस बैंक का विलय किस बैंक में हुआ

1- PNB+OBC+UBI

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UBI) का विलय पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के साथ हुआ है तो इस vilay के बाद पंजाब नेशनल bank भारत की दूसरी सबसे बड़ी सरकारी बैंकों में से एक है, भारत में सबसे बड़ी सरकारी बैंकों में पहले नंबर पर भारतीय स्टेट बैंक का नाम आता है|

2- Syndicate Bank + Canara Bank

सिंडिकेट बैंक का विलय केनरा बैंक के साथ हुआ है और इस विलय के साथ कैनारा बैंक भारत की चौथी सबसे बड़ी पब्लिक सेक्टर बैंक/ सरकारी बैंक है|

3- Andhra Bank+ Corporation Bank+ Union Bank of India

आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक का विलय यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के साथ हुआ है और इस विलय के साथ ही यूनियन बैंक ऑफ इंडिया भारत में सरकारी बैंकों के अंदर पांचवीं सबसे बड़ी बैंक है|

4- Allahabad Bank + Indian Bank

इंडियन बैंक का विलय इलाहाबाद बैंक के साथ हुआ है और इसी विलय के साथ इलाहाबाद बैंक भारत की सरकारी बैंकों में से 7th सबसे बड़ी बैंक है|

 

Banko Ka Vilay के लाभ

जब दो या दो से ज्यादा बैंक के मिलती हैं तो उनकी संपत्ति (assets) में अपने आप ही वृद्धि हो जाती है जिससे कि Shareholders की value भी बढ़ जाती है|

विविधीकरण (Diversification)
विलय के माध्यम से बैंक अपनी ज्यादा से ज्यादा सर्विसिस दे सकती हैं और बहुत ही जल्दी एक बड़े पैमाने पर अपना विकास कर सकती हैं|

संयुक्त तालमेल (Combined synergy)

संयुक्त के बाद नहीं संस्थान के प्रदर्शन में कुशलता और प्रभावशीलता की एक अलग ही लहर देखने को मिलती हैं जो कि उनके संयुक्त होने की सबसे बड़ी ताकत है

जोखिम कम करना (Low Risk)

विलय से दिवालियेपन का जोखिम काफी कम हो जाता है।

प्रतिस्पर्धा में कमी (Lack of Competition)
विलय के बाद प्रत्येक बैंक अपनी नई नई नीति और रणनीति बनाकर बाजार में उपस्थित दूसरे competitors के बारे में योजना बनाकर कंपटीशन में अब्बल रह सकती है|

 

बैंक ऑफ इंडिया का विलय किस बैंक में हुआ है?

बैंक ऑफ इंडिया का विलय किसी बैंक के साथ नहीं हुआ है, साथ ही उन बैंकों के बारे में भी जान लें जिनका विलय किसी बैंक के साथ नहीं हुआ है| नीचे दी गयी list में से किसी भी Banko Ka Vilay नहीं हुआ है|

भारतीय स्टेट बैंक (SBI)

बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India)

यूको बैंक (UCO Bank)

इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank)

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India)

बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank of Maharashtra)

पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab & Sind Bank)

 

Private Bank ke Naam & Sarkari Bank Ke Naam | सरकारी बैंक नाम लिस्ट India 2021

                Sarkari Bank Ke Naam

                     private bank ke naam

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *