Cheque Kitne Prakar Ke Hote Hain उनके नाम क्या क्या होते हैं, कौन सा चेक किस काम के लिए आता है और कब आता है चेक सबसे ज्यादा उपयोगी कब और कैसे होता है|

चेक एक वह कागजी आदेश है जिसे धारक अपनी बैंक को देता है उस पर लिखी गई राशि को उस व्यक्ति को भुगतान करने के लिए जिसका नाम उस चेक पर लिखा हुआ है|

चेक किसे कहते हैं

Self Cheque एक वह चेक होता है जिसे कोई भी व्यक्ति अपने लिए प्रयोग करता या करती है, सेल्फ चेक को तब issue किया जाता है जब आप अपने ही बैंक खाते से कैश निकालना चाहते हैं,

1- सेल्फ चेक (Self Cheque)  

क्रॉस चेक देने का मतलब होता है उस चेक का अमाउंट cash में नहीं दिया जाएगा सिर्फ बैंक के खाते में ही जाएगा| 

2- क्रॉस्ड चेक (Crossed Cheque) 

वह व्यक्ति बैंक से कैश निकाल सकता है जिसके नाम पर यह चेक है और अगर आप bearer को नहीं काटते हैं तो वह व्यक्ति भी cash निकाल सकता है जो इसको बैंक में ले जा रहा है| 

3- बेयरर चेक (Bearer Cheque) 

Order Cheque के द्वारा आप किसी भी कंपनी या किसी व्यक्ति को चेक के माध्यम से भुगतान कर सकते हैं|

4- आर्डर चेक (Order Cheque)

ओपन चेक एक Bearer Cheque भी हो सकता है और एक Order Cheque भी हो सकता है इसी कारण इस चेक को सबसे ज्यादा risky माना जाता है 

5- ओपन चेक (Open Cheque) 

Blank Cheque वह चेक है, जिसमें आपके सिर्फ हस्ताक्षर होते हैं उसमें कोई पैसा नहीं भरा हुआ होता है ना ही किसी का नाम लिखा होता है|

6- ब्लेंक चेक (Blank Cheque) 

Post dated Cheque को आगे की तारीख वाला चेक भी कहते हैं। ये एक ऐसा cross किया हुआ Bearer चेक होता जिसमें आगे की तारीख लिखी होती है। 

7- पोस्ट डेटेड चेक (Post Dated Cheque)

 चेक सबसे ज्यादा उपयोगी कब और कैसे होता है| सभी बैंक चेक prakar के बारे में जानने के लिए आप नीचे दी गयी लिंक पर click करके पढ़ सकते हैं |